8840591853

Disturbing Facts – भयावह आंकड़े

ग्लोबल एडल्ट टोबेको सर्वे ऑफ इंडिया की रिपोर्ट बहुत ही चौंकाने वाली है। भारत का युवा एवं बचपन किस तरह से नशे का शिकार हो रहा है इनकी बानगी इन आंकड़ों से स्पष्ट झलकती है।

1. भारत में तम्बाकू के द्रव्यों का सेवन करने वालों में खैनी का प्रयोग सबसे ज्यादा किया जाता है। करीब 13 % लोग इसका सेवन करते हैं।

2. 2009-10 के ग्लोबल एडल्ट टोबेको सर्वे (विश्व वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण) के मुताबिक भारत में तब 12 करोड़ लोग तम्बाकू का सेवन कर रहे थे।

3. तम्बाकू से होने वाली बीमारियों के इलाज पर 2011 में भारत में 1,04,500 करोड़ रुपए खर्च हुए।

4. एक सिगरेट आपकी जिंदगी के 9 मिनट पी जाती है।

5. तम्बाकू की एक पीक आपकी जिंदगी के तीन मिनट काम कर देती है।

6. हर 7 सेकंड में तम्बाकू एवं अन्य मादक द्रव्यों से एक मौत होती है।

8. भारत में हर साल 10.5 लाख मौतें तम्बाकू के पदार्थों के सेवन से होती हैं।

9. 90 % फेफड़े का कैंसर ,50 % ब्रोन्काइटस एवं 25 % घातक ह्रदय रोगों का कारण धूम्रपान है।

10. ग्लोबल एडल्ट टोबेको सर्वे ऑफ इंडिया के अनुसार शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में नशे का सेवन करने वाले महिला-पुरुष के आंकड़े।

नशे का प्रकार पुरुष महिला ग्रामीण शहरी कुल

तम्बाकू खाने वाले 47.9% 20.3% 38.4% 25.3% 34.6%

सिगरेट एवं बीड़ी पीने वाले 18.3% 2.4% 11.6% 8.4% 10.7%

खैनी 19% 4.7% 9.6% 4.5% 13.1%

गुटखा 12.1% 2.9% 5.3% 8.4% 9.5%

लिंग तम्बाकू खाने वाले तम्बाकू पीने वाले दोनों प्रकार का नशा करने वाले

पुरुष 23.6 15.6 9.3

महिला 17.3 1.9 1.1

Disturbing Facts – भयावह आंकड़े